मलेरिया बुखार का होना कोरोना के लक्षण नहीं : नीरु यादव

मलेरिया बुखार का होना कोरोना के लक्षण नहीं : नीरु यादव

मलेरिया बुखार का होना कोरोना के लक्षण नहीं : नीरु यादव

किसी भी प्रकार का बुखार हो सबसे पहले अपनी जांच करवाएं

बुखार से हमारे शरीर की प्रतिरोधात्मक क्षमता होती है प्रभावित

विश्व मलेरिया दिवस के मौके पर लिए गए 31 लोगों के सैंपल

फतह सिंह उजाला
पटौदी । 
मलेरिया बुखार होने पर इस बुखार को कोरोना कॉविड 19 के लक्षण के रूप में बिल्कुल भी नहीं देखा जाना चाहिए । मलेरिया बुखार एक सीजनल बुखार है , जोकि बदलते मौसम के दौरान मच्छर के काटने से होता है । बुखार किसी भी प्रकार का हो, बुखार के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता भी प्रभावित होती है । लेकिन इन हालात में सबसे अधिक जरूरी है कि किसी भी प्रकार के डर अथवा भय सहित दिमागी और मानसिक रूप से अपने आप को कमजोर नहीं समझे । यह बात विश्व मलेरिया दिवस के उपलक्ष पर पटौदी नागरिक अस्पताल की सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर नीरू यादव ने कोरोना कोविड-19 की जांच कराने के लिए आए हुए लोगों से कहीं।

पटौदी नागरिक अस्पताल में विश्व मलेरिया दिवस के मौके पर 31 महिलाओं और पुरुषों के मलेरिया जांच के लिए सैंपल कलेक्ट किए गए। इस मामले में हेल्थ इंस्पेक्टर सुनील कुमार के साथ सहयोगी विजय सिंह, दर्शन देव , ज्ञान प्रकाश, राज कुमार, विजय सिंह, उर्मिला और आरती को उनके द्वारा मलेरिया रोकथाम सहित आम लोगों को मलेरिया से बचाव के लिए प्रेरित किए जाने को देखते हुए सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर नीरू के यादव यादव के द्वारा प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित और प्रोत्साहित किया गया।

इसी मौके पर आम जन जनमानस का आह्वान करते हुए एसएमओ डॉ यादव ने कहा कि डेंगू ,मलेरिया, चिकनगुनिया सहित अन्य प्रकार के छोटे-छोटे रोग की नियमित अंतराल पर जांच करवाते रहना चाहिए। यह जरूरी नहीं है कि किसी भी प्रकार का बुखार हो तो वह बुखार कोरोना कोविड-19 के आरंभिक लक्षण ही होंगे या हो सकता है । उन्होंने कहा की आज के समय में कोरोना कॉविड 19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक व्यक्ति दिमागी और मानसिक रूप से अधिक परेशान महसूस किया जा रहा है । सबसे पहले सभी को अपने अपने मन से डर-भय को निकालना ही होगा । क्योंकि डर या फिर दिमागी और मानसिक रूप से भयभीत होने पर भी हमारे शरीर मैं कई इस प्रकार के तत्व एक्टिव हो जाते हैं जोकि हमारे शरीर के ऑक्सीजन के लेवल को कम ही करने का काम करते हैं ।

हम सभी को ऐसे किसी भी प्रकार के हालात से बचना चाहिए । उन्होंने कहा कि बदलते मौसम के देखते हुए सप्ताह में एक बार ड्राई डे मनाते हुए अर्थात अपने घर में पानी एकत्रित करने के टैंक मटके कूलर व अन्य स्टोरेज वाले स्थान की पूरी तरह से साफ सफाई अवश्य करें । सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर नीरू यादव ने कहा कि कोरोना कॉविड 19 और डेंगू मलेरिया ,चिकनगुनिया ,टाइफाइड के बुखार के लक्षणों में बहुत अधिक अंतर है । बिना किसी भी संपूर्ण जांच के अपने आप को कोरोना कोविड-19 से संक्रमित नहीं मान लेना चाहिए, जब तक की इस मामले में योग्य डॉक्टरों के मुताबिक जांच करके रिपोर्ट उपलब्ध नहीं हो जाए । उन्होंने कहा की संतुलित और पौष्टिक आहार लेकर किसी भी प्रकार की बीमारी अथवा रोग से लड़ने के लिए हम अपनी रोग प्रतिरोध आत्मक क्षमता को मजबूत बनाए रख सकते हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English Hindi Hindi